जन्नत के दर पर इंतजार हो रहा है, कोई फरिश्ता है जो मेरी रूह लेकर उड़ रहा है, सुना है जन्नत में कमी नहीं ऐश-ओ-आराम की, पर तेरी कमी को ये दिल वहाँ भी महसूस कर रहा है..

Spread the love

जन्नत के दर पर इंतजार हो रहा है,
कोई फरिश्ता है जो मेरी रूह लेकर उड़ रहा है,
सुना है जन्नत में कमी नहीं ऐश-ओ-आराम की,
पर तेरी कमी को ये दिल वहाँ भी महसूस कर रहा है..