मिल जाती है कितनो को ख़ुशी, मिट जाते हैं कितनो के गम, मैसेज इसलिये भेजते है हम, ताकि न मिलने से भी अपनी दोस्ती न हो कम.


Dosti Shayari / Saturday, January 28th, 2017

मिल जाती है कितनो को ख़ुशी,
मिट जाते हैं कितनो के गम,
मैसेज इसलिये भेजते है हम,
ताकि न मिलने से भी अपनी दोस्ती न हो कम.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 4 =