उड़ रहा था मेरा दिल भी परिंदों की तरह, तीर जब लग गई तो कोई भी मरहम न हुआ, देख लेना था मुझे भी हर सितम की अदा, ऐ सनम तेरे जैसा मेरा कोई दुश्मन न हुआ.


Bewafa Shayari

उड़ रहा था मेरा दिल भी परिंदों की तरह, तीर जब लग गई तो कोई भी मरहम न हुआ, देख लेना था मुझे भी हर सितम की अदा, ऐ सनम तेरे जैसा मेरा कोई दुश्मन न हुआ. Please follow and like us:

January 31, 2017

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता, इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता, ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता, की टुटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता !!


Bewafa Shayari

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता, इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता, ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता, की टुटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता !! Please follow and like us:

January 31, 2017

हम तो जल गये उसकी मोहब्बत में मोमकी तरह, अगर फिर भी वो हमें बेवफा कहे…तो उसकी वफ़ा को सलाम..


Bewafa Shayari

हम तो जल गये उसकी मोहब्बत में मोमकी तरह, अगर फिर भी वो हमें बेवफा कहे…तो उसकी वफ़ा को सलाम.. Please follow and like us:

January 31, 2017

गम इस बात का नही कि तुम बेवफा निकली, मगर अफ़सोस ये है कि, वो सब लोग सच निकले, जिनसे मैं तेरे लिए लड़ा करता था!!


Bewafa Shayari

गम इस बात का नही कि तुम बेवफा निकली, मगर अफ़सोस ये है कि, वो सब लोग सच निकले, जिनसे मैं तेरे लिए लड़ा करता था!! Please follow and like us:

January 31, 2017

मेरी वफ़ा की कदर ना की, अपनी पसंद पे तो ऐतबार किया होता, सुना है वो उसकी भी ना हुई, मुझे छोड दिया था उसे तो अपना लिया होता|


Bewafa Shayari

मेरी वफ़ा की कदर ना की, अपनी पसंद पे तो ऐतबार किया होता, सुना है वो उसकी भी ना हुई, मुझे छोड दिया था उसे तो अपना लिया होता| Please follow and like us:

January 31, 2017

पूछते है सब जब बेवफा था तो उसे दिल दिया ही क्यों * * किस किस को बतलाये * * * उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी दिल नहीं देते तो जान चली जाती”.


Bewafa Shayari

पूछते है सब जब बेवफा था तो उसे दिल दिया ही क्यों * * किस किस को बतलाये * * * उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी दिल नहीं देते तो जान चली जाती”. Please follow and like us:

January 31, 2017