साथ ना छूटे आप से कभी यह दुआ करता हूँ, हाथों में सदा आपका हाथ रहे बस यही फरियाद करता हूँ, हो भी जाये अगर कभी दूरी हमारे दरमियान, दिल से ना हों जुदा, रब्ब से यही इल्तिजा करता हूँ..


All, Hindi Shayari, Love Shayari

साथ ना छूटे आप से कभी यह दुआ करता हूँ, हाथों में सदा आपका हाथ रहे बस यही फरियाद करता हूँ, हो भी जाये अगर कभी दूरी हमारे दरमियान, दिल से ना हों जुदा, रब्ब से यही इल्तिजा करता हूँ..  

March 8, 2017

नदी को सागर से मिलने से ना रोको, बारिस की बूंदों को धरती से मिलने से ना रोको, जिन्दा रहने के लिए तुमको देखना जरुरी है, मुझे तुम्हारा दीदार करने से ना रोको..


All, Hindi Shayari, Love Shayari

नदी को सागर से मिलने से ना रोको, बारिस की बूंदों को धरती से मिलने से ना रोको, जिन्दा रहने के लिए तुमको देखना जरुरी है, मुझे तुम्हारा दीदार करने से ना रोको..

March 8, 2017

दीवाने है तेरे नाम के, इस बात से इंकार नहीं, कैसे कहे कि तुमसे प्‍यार नहीं, कुछ तो कसूर है आपकी आखों का, हम अकेले तो गुनहगार नहीं..


Love Shayari

दीवाने है तेरे नाम के, इस बात से इंकार नहीं, कैसे कहे कि तुमसे प्‍यार नहीं, कुछ तो कसूर है आपकी आखों का, हम अकेले तो गुनहगार नहीं..

March 8, 2017

आंखो को जब किसी की चाहत हो जाती हे, उसे देख के ही दिल को राहत हो जाती हे, केसे भूल सकता हे कोई किसी को, जब किसी को किसी की आदत हो जाती हे..


All, Hindi Shayari, Love Shayari

आंखो को जब किसी की चाहत हो जाती हे, उसे देख के ही दिल को राहत हो जाती हे, केसे भूल सकता हे कोई किसी को, जब किसी को किसी की आदत हो जाती हे..

March 8, 2017

तज़ार की आरज़ू अब खो गई है, खामोशियों की आदत हो गई है, ना शिकवा रहा ना शिकायत किसी से, अगर है तो एक मोहब्बत, जो इन तन्हाईयों से हो गई है..


Love Shayari

तज़ार की आरज़ू अब खो गई है, खामोशियों की आदत हो गई है, ना शिकवा रहा ना शिकायत किसी से, अगर है तो एक मोहब्बत, जो इन तन्हाईयों से हो गई है..

March 8, 2017

कहती है दुनिया जिसे प्यार, नशा है , खताह है! हमने भी किया है प्यार , इसलिए हमे भी पता है! मिलती है थोड़ी खुशियाँ ज्यादा गम! पर इसमें ठोकर खाने का भी कुछ अलग ही मज़ा है!


Love Shayari

कहती है दुनिया जिसे प्यार, नशा है , खताह है! हमने भी किया है प्यार , इसलिए हमे भी पता है! मिलती है थोड़ी खुशियाँ ज्यादा गम! पर इसमें ठोकर खाने का भी कुछ अलग ही मज़ा है!

March 8, 2017

लिखो तो पैगाम कुछ ऐसा लिखो की, कलम भी रोने को मजबूर हो जाये, हर लफ्ज में वो दर्द भर दो की, पढने वाला प्यार करने पर मजबूर हो जाये..


Love Shayari

लिखो तो पैगाम कुछ ऐसा लिखो की, कलम भी रोने को मजबूर हो जाये, हर लफ्ज में वो दर्द भर दो की, पढने वाला प्यार करने पर मजबूर हो जाये..

March 8, 2017

जिँदा है शाहजहाँ की चाहत अब तक, गवाह है मुमताज की उल्फत अब तक। जाके देखो ताज महल को ए दोस्तोँ, पत्थर से टपकती है मोहब्बत अब तक.


Love Shayari

जिँदा है शाहजहाँ की चाहत अब तक, गवाह है मुमताज की उल्फत अब तक। जाके देखो ताज महल को ए दोस्तोँ, पत्थर से टपकती है मोहब्बत अब तक.

March 8, 2017

हमारी गलतियों से कही टूट न जाना, हमारी शरारत से कही रूठ न जाना, तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं, इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना..


Love Shayari

हमारी गलतियों से कही टूट न जाना, हमारी शरारत से कही रूठ न जाना, तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं, इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना..

March 8, 2017