ना जाने कब तुम आ कर हमारे दिल मे बसने लगे, तुम पहले दोस्त थे,फिर प्यार, फिर ना जाने कब ज़िंदगी बन गये


Dosti Shayari / Wednesday, March 8th, 2017

ना जाने कब तुम आ कर
हमारे दिल मे बसने लगे,
तुम पहले दोस्त थे,फिर प्यार,
फिर ना जाने कब ज़िंदगी बन गये

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 2 =