बदली सावन की कोई जब भी बरसती होगी दिल ही दिल में वह मुझे याद तो करती होगी ठीक से सो न सकी होगी कभी वो भी करवटें रात भर बिस्तर पे वो भी बदलती होगी


Yaadein Shayari / Saturday, March 4th, 2017

बदली सावन की कोई जब भी बरसती होगी
दिल ही दिल में वह मुझे याद तो करती होगी
ठीक से सो न सकी होगी कभी वो भी
करवटें रात भर बिस्तर पे वो भी बदलती होगी

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 3 =