जन्नत के दर पर इंतजार हो रहा है, कोई फरिश्ता है जो मेरी रूह लेकर उड़ रहा है, सुना है जन्नत में कमी नहीं ऐश-ओ-आराम की, पर तेरी कमी को ये दिल वहाँ भी महसूस कर रहा है..


Yaadein Shayari / Saturday, March 4th, 2017

जन्नत के दर पर इंतजार हो रहा है,
कोई फरिश्ता है जो मेरी रूह लेकर उड़ रहा है,
सुना है जन्नत में कमी नहीं ऐश-ओ-आराम की,
पर तेरी कमी को ये दिल वहाँ भी महसूस कर रहा है..

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + twenty =