डरते है आग से कही जल न जाये, डरते है ख्वाब से कहीं टूट न जाये, लेकिन सबसे ज़्यादा डरते है आपसे, कहीं आप हमे भूल न जाये.


Miss You Shayari / Saturday, February 11th, 2017

डरते है आग से कही जल न जाये,
डरते है ख्वाब से कहीं टूट न जाये,
लेकिन सबसे ज़्यादा डरते है आपसे,
कहीं आप हमे भूल न जाये.

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 4 =