ना वक्त इतना हैं कि सिलेबस पूरा किया जाए; ना तरकीब कोई की एग्जाम पास किया जाए; ना जाने कौन सा दर्द दिया है इस पढ़ाई ने; ना रोया जाय और ना सोया जाए।


Funny Shayari / Thursday, February 2nd, 2017

ना वक्त इतना हैं कि सिलेबस पूरा किया जाए;
ना तरकीब कोई की एग्जाम पास किया जाए;
ना जाने कौन सा दर्द दिया है इस पढ़ाई ने;
ना रोया जाय और ना सोया जाए।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 2 =