पढ़ रहा हूँ मै.. इश्क़ की किताब ऐ दोस्तों, ग़र बन गया वकील तो.. बेवफाओं की खैर नही!


Bewafa Shayari / Wednesday, February 1st, 2017

पढ़ रहा हूँ मै..
इश्क़ की किताब ऐ दोस्तों,
ग़र बन गया वकील तो..
बेवफाओं की खैर नही!

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 6 =