3. सब उसी के हैं, हवा, ख़ुशबू, ज़मीन-ओ-आसमां, मैं जहां भी जाऊंगा, उसको पता हो जाएगा..


Dard Shayari / Tuesday, December 27th, 2016

3. सब उसी के हैं, हवा, ख़ुशबू, ज़मीन-ओ-आसमां,
मैं जहां भी जाऊंगा, उसको पता हो जाएगा..

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen − 1 =