तैरना तो आता था हमें मोहब्बत के समंदर में लेकिन, जब उसने हाथ ही नहीं पकड़ा तो डूब जाना अच्छा लगा..


Dard Shayari / Tuesday, December 27th, 2016

तैरना तो आता था हमें मोहब्बत के समंदर में लेकिन,
जब उसने हाथ ही नहीं पकड़ा तो डूब जाना अच्छा लगा..

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − 1 =