वो छोड़ के गए हमें, न जाने उनकी क्या मजबूरी थी, खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं, ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी..


Dard Shayari / Monday, December 26th, 2016

वो छोड़ के गए हमें,
न जाने उनकी क्या मजबूरी थी,
खुदा ने कहा इसमें उनका कोई कसूर नहीं,
ये कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी..

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + seventeen =