दो कदम तो सभी चल लेते हैं पर, ज़िन्दगी भर साथ कोई नहीं निभाता, अगर रो कर भुला सकते यादें, तो हँस कर कोई अपने गम न छुपाता..


Dard Shayari / Monday, December 26th, 2016

दो कदम तो सभी चल लेते हैं पर,
ज़िन्दगी भर साथ कोई नहीं निभाता,
अगर रो कर भुला सकते यादें,
तो हँस कर कोई अपने गम न छुपाता..

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 3 =